By heygobind Date June 19, 2021

युधिष्ठिर जी ने कहा "हे जनार्दन! ज्येष्ठ मास के शुक्लपक्ष में जो एकादशी आती है, कृपया उसका मार्गदर्शन कीजिये। भगवान श्री कृष्ण जी बोले:  हे युधिष्ठिर "धर्मात्मा श्री व्यास जी ने जो सम्पूर्ण शास्त्रों के वेद वेदांगों के पारंगत है उन्होंने निर्जला एकादशी का महत्व इस प्रकार कहा।श्री वेदव्यास जी ने कहा "जो दोनों ही...

Read More

By heygobind Date April 18, 2021

कामदा एकादशी, Kamada Ekadashi युधिष्ठिर ने कहा: हे वासुदेव! आपको बारम्बार नमस्कार! कृपया करके आप हमको बताइये कि चैत्रमाह के शुक्ल पक्ष में कौनसी एकादशी आती हैं?श्रीकृष्णजी बोले: हे राजन् ! आप एकाग्र होकर यह कथा सुनो, जिसको वशिष्ठजी ने राजा श्री दिलीप के प्रश्न पूछने पर कहा था ।वशिष्ठजी ने कहा: हे राजन्! चैत्र के शुक्ल पक्ष में कामदा एकादशी आती ...

Read More

By heygobind Date April 12, 2021

2021, Chaitra Navratri start from April 13, 2021, and would end on April 22, 2021. नवरात्रि पूजन विधि Vavratri 2021🌷 ➡ 13 अप्रैल 2021 मंगलवार से नवरात्रि प्रारंभ। 🙏🏻 नवरात्रि के प्रत्येक दिन माँ भगवती के एक स्वरुप श्री शैलपुत्री, श्री ब्रह्मचारिणी, श्री चंद्रघंटा, श्री कुष्मांडा, श्री स्कंदमाता, श्री कात्यायनी, श्री कालरात्रि, ...

Read More

By heygobind Date March 8, 2021

युधिष्ठिर जी  ने कहा : हे वासुदेव, फाल्गुन के कृष्णपक्ष में कौन सी एकादशी आती हैं और कृपया व्रत करने की विधि क्या है? श्री वासुदेव जी ने कहा: युधिष्ठिर! एक समय संत नारदजी ने ब्रह्मा जी से फाल्गुन में कृष्णपक्ष की विजया एकादशी के व्रत का माहात्म्य पूछा था तथा श्री ब्रह्माजी ने जो इस व्रत की विधि बतायी थी, उसे सुनो :ब्रह्माजी ने कहा: नारद जी ! यह ...

Read More

By heygobind Date February 7, 2021

युधिष्ठिर ने श्रीकृष्ण जी से कहा: हे भगवन्! माघ माह में कृष्णपक्ष की एकादशी कौनसी आती हैं? एकादशी की विधि क्या हैं और उसका फल क्या मिलता हैं ? आप कृपा करके हम सबको इस एकादशी का माहात्म्य बताये। श्री कृष्ण जी ने कहा: हे नृपश्रेष्ठ! माघ मास के कृष्णपक्ष में जो एकादशी आती है उसका नाम  षटतिला हैं और ये एकादशी सभी पापों का नाश करती हैं। षटतिला ...

Read More

By heygobind Date January 29, 2021

माघ कृष्ण चतुर्थी - संकष्टी चतुर्थी - संकट चौथ माघ महीने में आने वाली चतुर्थी तिथि को संकष्टी चतुर्थी (सकट चौथ) कहा जाता है। सकट चौथ को माताएं अपने पुत्र के लिए ये व्रत रखती हैं। सकट चौथ में तिलकुट से प्रसाद बनाकर श्री गणेश जी को भोग लगया जाता हैं। सकट चौथ में तिल के लड्डू बनाये जाते हैं। 31 जनवरी 2021 रविवार को संकट चौथ, संकष्टी...

Read More

By heygobind Date January 14, 2021

वाल्मीकि रामायण में आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ अगस्त्य ऋषि द्वारा भगवान् श्री रामजी को युद्ध में रावण पर विजय प्राप्ति के लिए दिया गया था।आदित्य हृदय स्तोत्र का रोज पाठ करने से जीवन मे आने वाले परेशानियों, कष्टों का निवारण होता हैं। इस स्तोत्र में सूर्य भगवान की निष्ठापूर्वक उपासना करते हुए उनसे विजयी मार्ग पर ल...

Read More

By heygobind Date November 22, 2020

प्रभु श्रीकृष्णजी ने कहा : हे अर्जुन! मैं तुमको मुक्ति देनेवाली कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष की ‘प्रबोधिनी/ देवउठनी एकादशी ’ के सम्बन्ध में संत नारद और ब्रह्माजी के बीच हुए वार्तालाप को सुनाता हूँ । एक समय नारद जी ने ब्रह्मजी से प्रश्न किया "प्रबोधिनी एकादशी देवउठनी एकादशी’ के व्रत का क्या फल होता है, कृपया आप मुझ...

Read More

By heygobind Date July 15, 2020

🌹युधिष्ठिर ने पूछा : गोविन्द ! वासुदेव ! आपको मेरा नमस्कार है ! श्रावण (गुजरात महाराष्ट्र के अनुसार आषाढ़) के कृष्णपक्ष में कौन सी एकादशी होती है ? कृपया उसका वर्णन कीजिये । 🌹भगवान श्रीकृष्ण बोले : राजन् ! सुनो । मैं तुम्हें एक पापनाशक उपाख्यान सुनाता हूँ, ...

Read More

By heygobind Date May 20, 2020

🌹 वटसावित्री-व्रत (वटसावित्री व्रत - अमावस्यांत पक्ष : 20 मई 🌹 वटसावित्री व्रतारम्भ (पूर्णिमांत पक्ष) : 03 जून वट पूर्णिमा : 05 जून 🌳 वृक्षों में भी भगवदीय चेतना का वास है, ऐसा दिव्य ज्ञान वृक्षोपासना का आधार है । इस उपासना ने स्वास्थ्य, प्रसन्नता, सुख-समृद्धि, आध्यात्मिक उन्नति एवं पर्यावरण संरक्षण में बहुत महत्त्वपूर्ण योगदान दिया है ।...

Read More

श्राद पंचाग पितरो के प्रति श्रदा, कृतिज्ञता और उनकी आत्मा को शान्ति का पक्ष दिनांक 13 से 28 सितम्बर 2019

श्राद पंचाग पितरो के प्रति श्रदा, कृतिज्ञता और उनकी आत्मा को शान्ति का पक्ष दिनांक 13 से 28 सितम्बर 2019

गर्भवती महिलायें ग्रहण के प्रभाव से बचने हेतु रखें इन बातों का ध्यान

गर्भवती महिलायें ग्रहण के प्रभाव से बचने हेतु रखें इन बातों का ध्यान

अक्षय तृतीया …….अक्षय तृतीया सतयुग और त्रेतायुग की आरम्भ की तिथि मानी जाती हैं।

अक्षय तृतीया …….अक्षय तृतीया सतयुग और त्रेतायुग की आरम्भ की तिथि मानी जाती हैं।

मुक्ति जैसे स्वप्न हमारे अन्तर्गत था , ऐसे ही संसार हमारे अन्तर्गत है !  आँख खुलते ही सब स्वप्न गायब !

मुक्ति जैसे स्वप्न हमारे अन्तर्गत था , ऐसे ही संसार हमारे अन्तर्गत है ! आँख खुलते ही सब स्वप्न गायब !

प्रभुजी रिश्ता | कई संत भगवान को अपना शिष्य, गुरु आदि मानते थे। एक संत वे प्रभु श्री राम को बहुत मानते थे

प्रभुजी रिश्ता | कई संत भगवान को अपना शिष्य, गुरु आदि मानते थे। एक संत वे प्रभु श्री राम को बहुत मानते थे

स्वस्तिक की महिमा….ध्यान के लिए पूजाघर और मन की शांति के लिए स्वस्तिक अवश्य बनाए तथा उसके सामने आसन बिछाकर बैठे.

स्वस्तिक की महिमा….ध्यान के लिए पूजाघर और मन की शांति के लिए स्वस्तिक अवश्य बनाए तथा उसके सामने आसन बिछाकर बैठे.

खरबूजा गर्मियों में सेवन से स्वास्थ्य लाभ

खरबूजा गर्मियों में सेवन से स्वास्थ्य लाभ

गर्मियों में जौ और चने का सत्तू बहुत ही लाभदायी होता है।

गर्मियों में जौ और चने का सत्तू बहुत ही लाभदायी होता है।

ध्यान Meditation ध्यान के समान कोई तीर्थ नहीं हैं. ध्यान के समान कोई यघ नहीं हैं.

ध्यान Meditation ध्यान के समान कोई तीर्थ नहीं हैं. ध्यान के समान कोई यघ नहीं हैं.

गोपी का प्रेम                                एक गोपी यमुनातट पर बैठकर प्राणायाम और ध्यान कर रही थी। वहाँ पर नारदजी वीणा को बजाते हुए आये तो नारदजी बड़े ही ध्यान से देखने लगे की गोपी कर क्या रही है?

गोपी का प्रेम एक गोपी यमुनातट पर बैठकर प्राणायाम और ध्यान कर रही थी। वहाँ पर नारदजी वीणा को बजाते हुए आये तो नारदजी बड़े ही ध्यान से देखने लगे की गोपी कर क्या रही है?

top